Tuesday, March 25, 2014

भाजपा में बढ़ता असंतोष


 भाजपा में बढ़ता असंतोष पार्टी के लिए ठिक नहीं है सीनियर लीडरऒ कि अनदेखी उनको भारी न पड जाये
बार बार यह अन्तर कलह सामने आ रहा जो कि पार्टी के लिए शुभ संकेत नहीं है ।
राजनाथ- मोदी जुगलबन्दी, अटल अडवाणी जी जैसी नहीं है, इसमें सीनियर लीडर उपेकछित महसुस कर रहे हैं। बार बार उनकी उपेक्छा हो रही है, पार्टी में टिकट वितरण को लेकर सीनियर लीडर नाखुश हैं। पार्टी वनमैं न शो के फॉर्मूले पर चल रही हैं । जिस तरह जसवंत सिह पार्टी के पुराने नेता एवं अटल सरकार के प्रमुख नेता को भी इस चुनाव में नाखुश होकर बाड़मेर से निर्दलिय होकर चुनाव लड़ना पड़ रहा है। इससे पहले भी कई नेता चुनाव में टिकट वितरण को लेकर नाराज़ चल रहे हैं। पार्टी के पितामाह लाल कृृष्ण आडवाणी जी, मुरली मनोहर जोशी, सुषमा स्वराज  भी उपेक्छित हैं ।

No comments:

Post a Comment