Monday, November 18, 2013

Gentleman Cricketer


भद्रजनो के खेल में एक भद्रपुरूष  सचिन तेंदुलकर की विदाई

क्रिकेट जीवन की तमाम चुनौतियों के बावजुद भी 24 साल के लम्बे अन्तराल के बाद जिस विदाई के वो हकदार थे सारा देश एंव सारे विष्व में क्रिकेट प्रेमी, एंव टाइम्स मैगजीन ने भी इस बात को प्रमुखता के साथ उठाया है, और उनके तस्वीरो को सा-हजया किया है। 

सचिन ने अपने व्यवहार एंव कुशलता  और सादगी से विदाई ली, अपने पूरे क्रिकेट जीवन मे सभी का सम्मान किया और सभी का सम्मान उनको मिला और सदा सदा के लिए क्रिकेट इतिहास मे अपना नाम स्वर्णिम अक्षरो में अकित कर दिया। सारे समकालिन क्रिकेटर भी इस लिटिल मास्टर के मुरीद हो गये, नये खिलाडियो को उनके पद चिन्हो पर चलने की प्रेरणा दे दी।  और कभी भी अहम को अपने ऊपर हावी नही होने दिया और भारत सरकार ने क्रिकेट मे अविस्मरणीय प्रदर्शन  के लिए देश  का गौरव भारत रत्न से उनको सम्मानित किया।


दुर्गेश रणाकोटी
देहरादून, उत्तराखण्ड
18 नवम्बर 2013


No comments:

Post a Comment